Home » HINDI SHAYARI » SHAYARI IN HINDI

SHAYARI IN HINDI

आज फिर बारिश में जी भर कर के रोने को जी चाहता है..

बारिश की बूंदों में आंसू पहचानने वाला कुछ बदल सा गया है..

 

AAJ FIR BARISH ME JI BHAR KR KE RONE KO JEE CHAHTA HAI..
BARISH KI BOONDO ME AANSU PAHCHANNE WALA KUCH BADAL SA GAYA HAI..

 

बहुत नाज़ था मुझे अपनी पंसद पर ..

तेरी पसंद का बनते बनते खुद का वजूद ही मिटा दिया …

BAHUT NAAJ THA MUJHE APNI PANSAD PR ..
TERI PASAND KA BANTE BANTE KHUD KA WAJOD HI MITA DIYA …

 

यकीन था की तेरी फितरत में ही नहीं है वफ़ा…
बस तुझे वफ़ा सिखाने के लिए इश्क़ की आग में कूदे

YAKIN THA KI TERI FITRAT ME NAHI HAI WAFA …
BASS TUJHE WAFA SIKHANE KE LIYE ISHQ KI AAG ME KUDE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *